Friday, April 13, 2018

TOP 15 Best Hindi Pahaliyans

1.महफिल  मे आए हैं दो भाई ,
आते ही उनकी हो गई ठुकाई |
मुख पर लगे तमाचे खाने ,
दोनों लग  गये तन बजाने |


2.हरी- भरी देखो काया ,
चार आखर का नाम हैं पाया |
छुते ही मैं कुम्हला जाती हूं ,
बतलाओ क्या मैं कहलाती हूं |


3.देश मे देखा ,फिर प्रदेश देखा ,
तथा देखा कलकता |
एक अचम्भा  भी हमने देखा ,
पुष्प के उपर पत्ता |


4.एक बगिया मे पुष्प अनेक ,
उन पुष्पों का राजा एक ,
बगिया  मे जब चन्द्रमा आए ,
बगिया चम-चम कही -खिल जाए | |


5..एक  व्रक्ष के दो तने ,
दो शाखाये दस   फलियाँ|
वचित्र तमाशा इसको  मानो ,
घुमे ये सडके और गलियाँ



6.देखने वाला उसे पहन न पाए ,
पहनने वाला उसे देख न पाए |
इस अजीब वस्तु का नाम बताओ
अक्लमंद  होने का सबूत पाओ |


7.लगती ,खुलती हूँ  और मैं ,
होती हूँ चार |
मैं नही रहूँ तो जग मे लगता ,
सब कुछ  बेकार |


8.मोती की वह फसल काटता ,
उठ कर ही बड़े सवेरे |
और शाम को को वह समेटता,
फिर अपने सारे डेरे  |


9.ज्वालामुखी  संसार का मैं ही ;
सबसे बड़ा हूँ  भाई  |
नाम बताओ मेरा तो जाने ,
हवा , बीच मे आई |



10.हाथ मे रहे  हरा -हरा वह ,
मुख मे जा हो जाए लाल |
नही मिठाई ,नही  वह फल  हैं ,
जो जाने वह बोले तत्काल |


11.तीन - चार घेरो की हैं चकरी ,
पीला उसका हैं रंग |
पोर -पोर है उसका रस मे भीगा ,
खाओ तो दूध  के संग  |


12.एक विचित्र  लकड़ी देखी ,
जिसमे छिपी मिठाई ,
शीघ्र नाम बताकर
उसका जीभरकर करो चुसाई |


13.खड़ी -खड़ी मैं शरीर  जलाऊ ,
खड़ी -खड़ी मैं दे दू  अपनी जान ,
अन्धयारे मे हर घर -दुकान मे ,
आता है सब को ध्यान  |



14.बहार उजली , भीतर काली ,
कागज की एक नाली हूँ  |
स्वास्थ्य को कर देती चोपट ,
लत इसी मैं लगाने वाली हूँ मैं |


15.छज्जे पर बैठा है वह ,
गाता वह गाना |
भोला है, भीरु भी है,
खाता है वह दाना  |







1.तबला











2.छुईमुई








3.गोभी













4.आकाश मे चन्द्रमा










5.आदमी













6.कफन










7.आँखे











8.सूरज










9.हवाई -जहाज










10.पान











11.जलेबी











12.गन्ना












13.मोमबती










14.सिगरेट










15.कबूतर