Friday, February 23, 2018

Top 15 Bachho Ki Paheliyan in 2018

1.बेल से वो पैदा  होवे , रंग  से वो भूरी हैं |
भाई लोगो पहेली बूझो  ,अधूरी नही वो पूरी हैं |


2.एक किले मे चालीस, सबका हैं मुहँ  काला |
पूंछ पकड़ कर रगड  लगाओ ,झट कर दे उजियाला |



3.एक नर मै देखी कार, बच्चा हर  जने हर वो नारी |
बच्चा होते माँ  को खाये, बच्चा मरे तो माँ की जय |



4.पड़ी रहे धड के बिना, गाड़ी मिटे सिर हिन् |
मग करे पग रहत हैं ,अक्षर केवल तीन |



5.वह हमको देती आराम
यह ऊँची तो ऊँचा नाम
बड़े -बड़े लोगो को देखा
इसके लिए होता संग्राम


6.जा  को जोड़ बने जापान
बड़े -बडो के मुहँ  की शान |


7.बूझो भैया एक पहेली
जब काटो तो नई नवेली |



8.हरा हूँ  पर पता नही,
नकलची हूँ पर बन्दर नही ,
बूझो तो मेरा नाम सही |



9.कद के छोटे  कर्म के हिन्
बिन -बजाने के शोकीन  ?


10.रोज शाम आती हूँ  मै
रोज सवेरे जाती  हूँ ,
नीद न मझको समझना
यधिप तुम्हे सुलाती हूँ |



11.दबे पावं घुस जाती
चीज चट कर जाती ,
जब पकड़े उसे दोड़कर ,
छु  मन्त्र हो जाती |


 12.गर्मी मे वह देखता
सर्दी मे घायब हो जाता |


13.कातिल ,पर दोषी नही
उजला उसका रंग ,
बतीस के दल मे रहे ,
सदा रहे एक संग  |


14.हरी -हरी पूंछ
सफेद घोडा
बताने मे समय
मैं लेता बहुत थोडा |


15.मै अलबेला कारीगर
काटू काली घास
राजा ,रंक और सिपाही
सिर झुकाते मेरे  पास |



1.पूंछ









2.माचिस












3.दिन -रात









4.टोपी













5.कुर्सी














6.पान










7.पेन्सिल











8.तोता









9.मच्छर











10.रात











11.बिल्ली










12.तरबूज









13.दांत










14.मूली










15.नाई